Tuesday , September 27 2022

राजधानी में उत्साह, उमंग, उल्लास से मनाया गया योग दिवस

हजारों लोगों ने किया योग व प्राणायाम का अभ्यास

लखनऊ। 8वां अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर राजधानी के रेजीडेंसी में आयोजित योगाभ्यास कार्यक्रम में केंद्रीय राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आकर उन्हें गर्व का अनुभव हो रहा है।

इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद देते हुये कहा कि जिस योग को लोग भूलने लगे थे। उस योग को विश्व के पटल पर लाकर भारत के गौरव व स्वाभिमान को प्रतिष्ठित करवाने का काम प्रधानमंत्री ने किया है। उन्होंने कहा कि कर्म करते हुये 100 वर्ष तक जीने की इच्छा रखो और यह संभव तब होगा जब व्यक्ति योग करेगा। योग से शरीर स्वस्थ होगा और तभी मन स्वस्थ होगा। योग से उर्जा मिलती है, यह हमारे देश का दर्शन दिखाती है। भारत ने पूरे विश्व को ज्ञान,योग का दपर्ण दिखाया है। जब से प्रधानमंत्री ने देश की बागडोर संभाली तब से देश की सुरक्षा के साथ ही देश की संस्कृत को भी विश्व के पटल पर लाने का काम किया है। योग ने बढ़ाई भारत की प्रतिष्ठा।


अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर रेजीडेंसी में आयोजित योगाभ्यास कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति के साथ प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में बोलते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने कर्नाटक के मैसूर में रहकर देश भर में योग कार्यक्रमों को संबोधित किया है। उन्होंने कहा कि योग दिवस ने भारत की प्रतिष्ठा बढ़ाने का काम किया है। हम पूरे विश्व को परिवार मानते हैँ इसलिए भारतवासियों के साथ पूरे विश्व को निरोग बनाने का योग एक महामंत्र है, जो हमारे ऋषि मुनियों द्वारा दिया गया, उस दिशा में पूरा विश्व आगे बढ़ रहा है।


कार्यक्रम में मुख्य सचिव दुर्गा प्रसाद मिश्रा ने भी योग के गुणों का वर्णन किया कहा कि हर मनुष्य को योग अपने जीवन में अवश्य अपनाना चाहिए उन्होंने माननीय प्रधानमंत्री जी के इस पहल को मानवता के रूप में मानते पूरे प्रदेश के सभी मनुष्य को अपनाना चाहिए। इस अवसर पर आयुक्त रंजन कुमार ने भी योग के गुण, सभी बीमारियों से बचाव हेतु सभी लोगों से योग अपनाने का आग्रह किया।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी रिया केजरीवाल, अपर जिलाधिकारी अमरपाल सिंह, अपर जिलाधिकारी टीजी हिमांशु, परियोजना निदेशक राजेश त्रिपाठी, सभी अपर जिलाधिकारी/ प्राधिकरण के सचिव व अन्य अधिकारी/ कर्मचारीगण बड़ी संख्या में उपस्थित थे।