Thursday , October 6 2022

उदयपुर हत्याकांड : पाकिस्तान के दावत-ए-इस्लामी संगठन से जुड़े हैं हत्यारों के तार

लखनऊ / जयपुर।

उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड के आरोपियों मोहम्मद रियाज जब्बार और गौस मोहम्मद के तार पाकिस्तान के ‘दावत-ए-इस्लामी’ नाम के संगठन से जुड़े हुए बताये जा रहे हैं। हत्या के बाद दोनों आरोपी अजमेर दरगाह जियारत करने के लिए जाने वाले थे। दोनों आरोपियों मोहम्मद रियाज जब्बार और गौस मोहम्मद को हत्या के 4 घंटे बाद अरेस्ट कर लिया गया है। एनआईए और एसआईटी की टीम उदयपुर पहुंच चुकी है।

पूछताछ के बाद NIA जांच अपने हाथ में ले सकती है। एसआईटी की टीम में एडीजी अशोक राठौड़ समेत चार लोग उदयपुर पहुंचे हैं। तालिबानी तरीके से की गई हत्या के बाद पूरे उदयपुर में जगह-जगह पुलिस तैनात कर दी गई है। 7 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। पूरे राजस्थान में 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद है और एक महीने के लिए धारा 144 लागू की गई है। प्रशासन ने भीड़ जुटने पर पाबंदी लगा दी है और इस बीच भाजपा ने उदयपुर बंद बुलाया है। वहीं, बुधवार सुबह उदयपुर के महाराणा भूपाल सिंह अस्पताल की मॉर्च्यूरी में कन्हैयालाल के पोस्टमार्टम की तैयारी शुरू कर दी गई है।

यहां बता दें कि टेलर कन्हैयालाल साहू की मंगलवार दोपहर दुकान में घुसकर निर्मम हत्या की गई थी। आरोपियों ने इस वारदात का वीडियो भी बनाया और प्रधानमंत्री मोदी को भी धमकी दी। परिजनों ने हत्या के बाद कुछ मांग रखी थीं। इस पर सहमति बनने के बाद कन्हैयालाल का शव मॉर्च्युरी में रखवाया गया है। गहलोत सरकार ने पीड़ित परिवार को 31 लाख रुपये का मुआवजा और मृतक के दोनों बेटों को संविदा पर नौकरी देने का आश्वासन दिया है।