Friday , September 30 2022

राम की नगरी अयोध्या का प्रवेश द्वार जाना जाएगा स्वर कोकिला लता मंगेश्कर का नाम


लखनऊ/अयोध्या। भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या के रानोपाली स्थित प्रवेश द्वार चौराहा अब भारत रत्न स्वर कोकिला लता मंगेशकर के नाम से जाना जायेगा।

अयोध्या नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने गुरूवार को बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर नगर निगम अयोध्या की बोर्ड बैठक में यह निर्णय लिया गया कि भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या के रानोपाली स्थित प्रवेश द्वार चौराहा अब भारत रत्न स्वर कोकिला लता मंगेशकर के नाम से जाना जायेगा।

उन्होंने बताया कि अयोध्या के रानोपाली क्षेत्र में स्थित प्रवेश चौराहा (उदया चौराहा) भारत रत्न स्वर कोकिला लता मंगेशकर के नाम पर विकसित किया जायेगा, जहां लता मंगेशकर द्वारा रिकार्ड हुए भगवान श्रीराम व हनुमानजी के भजन सुनाई देंगे।
उपाध्याय ने कहा कि इसके साथ ही इस चौराहे पर लता मंगेशकर की प्रतिमा भी लगाया जायेगा। वहीं टेढ़ी बाजार चौराहा भी धार्मिक गतिविधियों के तहत सौंदर्यीकरण किया जायेगा, साथ ही साथ आने वाले श्रद्धालुओं को निषाद राज एवं भगवान के बीच के संबंधों के इतिहास को भी समझाया जायेगा। अर्थात् चौराहे के नाम निषाद राज चौराहा कहा जायेगा। इन दोनों प्रमुख चौराहों पर आधुनिक सुविधाओं को भी तैयार किया जायेगा।

उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा निर्देशित किये गये चौराहों को लेकर यह नगर निगम की बोर्ड बैठक में प्रस्ताव रखे गये जिसमें उदया चौराहा, लता मंगेशकर के नाम और टेढ़ी बाजार चौराहा निषाद राज के नाम से जाना जायेगा। कल देर शाम हुई नगर निगम की बोर्ड बैठक में पास होने के बाद अब इन चौराहों का नाम बदले जाने के लिये शासन को प्रस्ताव भेजा जायेगा।