Tuesday , September 27 2022

यूपी की राजधानी में बदमाशों ने की बमबारी और फायरिंग

लखनऊ। राजधानी पुलिस पर बेखौफ बदमाश भारी पड़ रहे हैं। रविवार को बदमाशों ने दो युवकों के पर फायरिंग के साथ बम भी फेंका। गिरोह बंद 20 से अधिक बदमाशों ने चार थाना क्षेत्रों में उत्पात मचाया और कहीं पर भी इस दौरान पुलिस नजर नहीं आई। आरोप है कि बदमाशों ने फिल्मी अंदाज सात से आठ राउंड फायरिंग की और कार पर बम फेंके। इस वारदात से पूरे इलाके में दहशत फैली है। गोली कार में लगने से सवार युवकों की जान बच गई। पीड़ितों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर अधिकारी व थानों केप्रभारी निरीक्षक पहुंचे। देर शाम को गुडंबा थाने में पीड़ित की तहरीर पर हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।


अलीगंज निवासी अभिषेक सिंह अपने दोस्त नदीम के साथ उसकी कार से रविवार दोपहर को इटौंजा स्थित नीलांश वाटर पार्क गए थे। वहां से करीब चार बजे वापस आ रहे थे। मड़ियांव थाने के पास पहुंचे तो उनकी कार के दोनों तरफ 7-8 बाइक सवार 16-17 दबंग युवक रुकवाने का प्रयास कर रहे थे। कार नदीम चला रहा था। इतने सारे लोगों को देख अभिषेक, नदीम व उसके दोस्त दहशत में आ गए। इसी दौरान बाइक सवार बदमाशों ने पहले कार में पत्थर से हमला किया।


उन्होंने बताया कि हमला होता देख उन लोगों ने कार की स्पीड बढ़ा दी तो एक साथ कई बाइक सवार युवकों ने गाड़ी का पीछा शुरू कर दिया। बाइक सवार बदमाशों ने कार में बम व फायरिंग शुरू कर दी। अभिषेक के अनुसार बाइक सवारों ने 7 से 8 राउंड गोलियां चलाई। कार सवार किसी तरह बचते हुए कार को टेड़ी पुलिया तक ले आए। वहां भीड़ को देखकर युवकों ने कार रोक दी। टेड़ी पुलिया पर भीड़ को देखकर हमलावर युवक वहां से भाग गए। इसके बाद कार सवार युवकों ने पुलिस को सूचना दी।

आईआईएम रोड पर ओवरटेक कर की फायरिंग
अभिषेक ने बताया कि बदमाशों ने इटौंजा से ही उनका पीछा शुरू कर दिया। पहले चलती बाइक से ही कार को लात मारकर रोकने की कोशिश की। बदमाशों को देखकर उसने कार की स्पीड तेज कर दी। हाइवे पर कार को लहराते हुए भाग रहे थे, ताकि बदमाशों को साइड न मिल सके। आईआईएम मोड़ पर बदमाशों ने उन्हें ओवरटेक किया और ताबड़ तोड़ गोलियां चलाने लगे।

पीड़ित अभिषेक के मुताबिक करीब 10 राउंड फायरिंग के बाद उन्हें लगा कि उनकी जान नहीं बचेगी। वह रोड पर हर तरफ पुलिस को देखने लगे, जिससे उनके पास रुककर जान बचा सके। लेकिन, कहीं भी पुलिस नजर नहीं आई। 3-4 चौराहे पड़े, लेकिन कहीं पुलिस दिखी ही नहीं। इस पर तेजी से कार दौड़ाते हुए टेड़ी पुलिया चौराहे पर पहुंचे। यहां काफी भीड़ भाड़ देख गाड़ी रोक दी। भीड़ देख बदमाश भी बैकफुट हो गए और किसी तरह उनके जान बची।

सीसीटीवी फुटेज इकट्ठा करने में जुटी पुलिस
एडीसीपी उत्तरी प्राची सिंह के मुताबिक पीड़ित ने आरोप लगाया कि बाइक सवार बदमाशों ने उसका पीछा काफी दूरी से किया है। इस दौरान खुलेआम असहलों से फायरिंग की है। इस मामले में मड़ियांव, जानकीपुरम, विकासनगर व गुडंबा इलाके के सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले जा रहे है। ताकि पूरी वारदात की हकीकत सामने आ सके।

पुलिस के मुताबिक कार सवारों पर हमला करने में विवेक उर्फ हनी तिवारी समेत चार आरोपियों का नाम सामने आया है। एडीसीपी उत्तरी प्राची सिंह के मुताबिक कार सवार युवकों व हमलावरों में पुराना विवाद चल रहा है। दोनों पक्ष अलीगंज एरिया में रहता है। आरोपी हनी तिवारी ने अभिषेक, नदीम समेत पांच के खिलाफ मारपीट का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस दोनों मुकदमों की जांच कर रही है।