Wednesday , October 5 2022

पूर्व कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर के समर्थन में उतरे सपा अध्यक्ष अखिलेश

थाने में बलात्कार जैसी घटनाये यूपी में कानून व्यवस्था को चुनौती : अखिलेश
लखनऊ। पिटने से बचे पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं सुभासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर के समर्थन में उतरे समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं सुभासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर के जीवन को खतरा है। उन पर पिछले दिनों कई हमले हुए है फिर भी उनकी सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था नहीं की जा रही है। विपक्षी जनप्रतिनिधियों के साथ दुर्व्यवहार लोकतांत्रिक व्यवस्था पर हमला है। उन्होने की कि विपक्षी नेताओं की पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की जाए जिससे उन्हें जनता के बीच जाने और उसकी आवाज उठाने में कोई खतरा न हो।

उन्होंने कहा कि थानो में हो रही बलात्कार की घटनाये उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था की पोल खोलती हैं। यादव ने मंगलवार कहा कि यूपी में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं बची है। मुख्यमंत्री के दावे कितने खोखले है यह थानों में बलात्कार की आए दिन हो रही घटनाओं से प्रमाणित है। भाजपा-आरएसएस लोकतंत्र विरोधी संगठन है। भाजपा सरकार में इसलिए विपक्ष को अपमानित करने की घटनाएं घोर निंदनीय है। यादव से आज अरविन्द राजभर (पूर्व राज्यमंत्री) ने भेंट कर ओम प्रकाश राजभर की सुरक्षा पर खतरे की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आज ही जिला गाजीपुर के थाना करीमुद्दीनपुर के ग्राम गोशलपुर पहदरिया में श्री राजभर को 20-25 दबंगो ने घेर लिया था। वे लाठी-डंडो से लैस थे। श्री राजभर इसी विधान सभा क्षेत्र से जहूराबाद के विधायक है। श्री ओम प्रकाश राजभर और श्री अरविन्द राजभर पर नामांकन के दौरान वाराणसी में भी हमला हुआ था।