Wednesday , October 5 2022

अग्निपथ योजना पर सोनिया गांधी और राहुल गांधी प्रदर्शनकारियों के समर्थन में उतरे

कहा- वह योजना को करवायेंगे वापस


नई दिल्ली। Congress President Sonia Gandhi ने सेना में भर्ती की नयी योजना अग्निपथ का विरोध कर रहे युवाओं को आंदोलन को शांतिपूर्ण और अहिंसक रखने की अपील करते हुए कहा कि इस योजना को वापस कराने के संघर्ष में कांग्रेस पार्टी उनके साथ है।
श्रीमती गांधी ने शनिवार को देश के युवाओं के नाम संदेश में कहा कि आप भारतीय सेना में भर्ती होकर देश सेवा का महत्वपूर्ण कार्य करने की अभिलाषा रखते हैं। सेना में लाखों खाली पद होने के बावजूद पिछले तीन साल से भर्ती न होने का दर्द मैं समझ सकती हूँ। एयरफोर्स में भर्ती की परीक्षा देकर रिजल्ट और नियुक्ति का इंतजार कर रहे युवाओं के साथ भी मेरी पूरी सहानुभूति है।
उन्होंने कहा कि मुझे दुख है कि सरकार ने आपकी आवाज को दरकिनार करते हुए नई सेना भर्ती योजना की घोषणा की है, जो कि पूरी तरह से दिशाहीन है। आपके साथ-साथ कई पूर्व सैनिक और रक्षा विशेषज्ञों ने भी इस योजना पर सवालिया निशान उठाए हैं।
श्री गांधी ने कहा कि कांग्रेस आपके साथ पूरी मजबूती से खड़ी है और इस योजना को वापस करवाने के लिए संघर्ष करने और आपके हितों की रक्षा करने का वादा करती है। हम एक सच्चे देशभक्त की तरह सत्य, अहिंसा, संयम और शांति के मार्ग पर चलकर सरकार के सामने आवाज उठाएंगे।
कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मैं आपसे भी अनुरोध करती हूँ कि अपनी जायज मांगों के लिए शांतिपूर्ण और अहिंसक ढंग से आंदोलन करें। कांग्रेस आपके साथ है। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने श्रीमती गांधी की तरफ से देश के युवाओं के नाम यह संदेश जारी किया। वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर केंद्र में सत्ता में आने के बाद से ‘जय जवान जय किसान’ के मूल्यों का अपमान करने का आरोप लगाया।
श्री गांधी ने अपने ट्वीट में कहा, पहले मैंने कहा था कि प्रधानमंत्री को ‘ब्लैक फार्म लॉ’ वापस लेना होगा। इसी तरह उन्हें ‘अग्निपथ’ योजना वापस लेनी होगी।
कांग्रेस प्रवक्ता Pawan Kheda ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, आप हमारे सैन्य बलों में आरएसएस की घुसपैठ करना चाहते हैं। आपका इरादा क्या है? देश भर में मौजूदा स्थिति चिंता का विषय है। सरकार को देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करना बंद करना चाहिए और इस योजना को तुरंत वापस लेना चाहिए।”
श्री खेड़ा ने आगे कहा, “नोटबंदी के दौरान सरकार ने 50 दिनों के भीतर 60 बार नियम बदले। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी), कृषि कानूनों और सीएए के साथ भी ऐसा ही हुआ। हाल में अग्निपथ योजना की घोषणा के बाद ही सरकार ने कई बदलाव किये।
कांग्रेस नेता Kanhaiya Kumar ने सरकार पर अग्निपथ योजना को लेकर ‘मार्केटिंग’ करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, “ जो लोग अग्निपथ के फायदे गिना रहे हैं, वे कुछ बेचने की कोशिश कर रहे हैं। उनके शब्द ‘सेल्समैन’ जैसे हैं। देश को इस योजना की क्या आवश्यकता है। उन्होंने जोर दिया कि अग्निपथ युवाओं को आग में झोंकने की योजना है और सरकार को इसे तुरंत वापस लेना चाहिए।