Friday , September 30 2022

… तो सूख गई हरिद्वार हर की पौड़ी की गंगा !

हरिद्वार। देश भर में गंगा स्नान के लिए प्रसिद्ध हर की पौड़ी एक का पानी एक ही रात में सूख गया. हर की पौड़ी में दिखने वाली उफनती गंगा का पानी अब एक पतली सी धार में नजर आ रहा है. चौंकिए मत दरअसल ये केवल एक रखरखाव के काम के चलते हुआ है. सिंचाई विभाग ने गंगा कैनाल का रखरखाव करने क लिए उसे कुछ समय के लिए हरिद्वार से लेकर कानपुर तक के लिए बंद किया है और इस काम के पूरा होते ही कैनाल को वापस खोल दिया जाएगा और हर की पौड़ी में फिर पानी का बहाव शुरू हो जाएगा.

सिंचाई विभाग, गंगा कैनाल के एसडीओ शिवकुमार कौश‌िक ने बताया कि 15 तारीख की देर रात गंगा कैनाल में पानी को रोक दिया गया है. अब ये 4 से 5 नवंबर तक बंद रह सकती है. उन्होंने इस दौरान बताया कि श्रद्धालुओं के लिए हालांकि हर की पौड़ी में इतना पानी रहने दिया जाएगा जिससे वे अपनी पूजा अर्चना व अन्य धार्मिक कार्य कर सकें. गंगा कैनाल में पानी रोकने के चलते अब उत्तर प्रदेश के 19 जिलों के किसानों के लिए कुछ दिनों की परेशानी खड़ी हो गई है. मुजफ्फरनगर, मेरठ, बुलंदशहर, गाजियाबाद, अलीगढ़, एटा, हाथरस और फिरोजाबाद में पानी की सप्लाई बाधित रहेगी. इस दौरान किसानों को खेतों की सिंचाई के लिए ट्यूबवेल और पंपिंग सेट पर निर्भर रहना पड़ेगा. उल्लेखनीय है कि गंगा नहर उत्तर प्रदेश के 19 जिलों के लिए जीवन रेखा के तौर पर देखी जाती है.