Friday , September 30 2022

पटना हाईकोर्ट के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट के रोक से सहारा प्रमुख सुब्रत राय को मिली राहत

नई दिल्ली। हाई कोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली सहारा प्रमुख की याचिका पर न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति जेबी पारदीवाला की पीठ ने नोटिस जारी किया।

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को पटना हाई कोर्ट के उस आदेश पर रोक लगा दी जिसमें बिहार के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को सहारा समूह के प्रमुख सुब्रत राय को निवेशकों को पैसा लौटाने के मामले में 16 मई को उसके समक्ष पेश करने का निर्देश दिया गया था। शीर्ष अदालत ने हाई कोर्ट द्वारा पारित अलग आदेश पर भी रोक लगा दी, जिसने 11 फरवरी को सहारा क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटीज लिमिटेड और रॉय को उसके समक्ष लंबित जमानत याचिका में विरोधी पक्ष के रूप में जोड़ने का निर्देश दिया था और बाद में उन्हें व्यक्तिगत रूप से पेश होने का निर्देश दिया था।
पीठ ने हाई कोर्ट के आदेश पर रोक लगाते हुए मामले की सुनवाई 19 मई को निर्धारित की। याचिकाकर्ता की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने पीठ को सूचित किया कि इससे पहले हाई कोर्ट ने बिहार के डीजीपी को 16 मई को सुबह 10.30 बजे राय को कोर्ट में पेश करने को कहा था।

पटना हाईकोर्ट के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट के रोक से सहारा प्रमुख सुब्रत राय को मिली राहत

नई दिल्ली। हाई कोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली सहारा प्रमुख की याचिका पर न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति जेबी पारदीवाला की पीठ ने नोटिस जारी किया। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को पटना हाई कोर्ट के उस आदेश पर रोक लगा दी जिसमें बिहार के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को सहारा समूह के प्रमुख सुब्रत राय को निवेशकों को पैसा लौटाने के मामले में 16 मई को उसके समक्ष पेश करने का निर्देश दिया गया था। शीर्ष अदालत ने हाई कोर्ट द्वारा पारित अलग आदेश पर भी रोक लगा दी, जिसने 11 फरवरी को सहारा क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटीज लिमिटेड और रॉय को उसके समक्ष लंबित जमानत याचिका में विरोधी पक्ष के रूप में जोड़ने का निर्देश दिया था और बाद में उन्हें व्यक्तिगत रूप से पेश होने का निर्देश दिया था।
पीठ ने हाई कोर्ट के आदेश पर रोक लगाते हुए मामले की सुनवाई 19 मई को निर्धारित की। याचिकाकर्ता की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने पीठ को सूचित किया कि इससे पहले हाई कोर्ट ने बिहार के डीजीपी को 16 मई को सुबह 10.30 बजे राय को कोर्ट में पेश करने को कहा था।