Thursday , October 6 2022
Education school test concept : Hands student holding pencil for testing exams writing answer sheet or exercise for taking fill in admission exam multiple carbon paper computer at university classroom

एनटीपीसी परीक्षा : बुलाये जाएंगे 20 परीक्षार्थी


नई दिल्ली। रेलवे ने गैर तकनीकी लोकप्रिय श्रेणी (एनटीपीसी) और ग्रुप डी के पदों पर भर्ती की प्रक्रिया को लेकर आज नीतिगत संशोधन करते हुए सभी उम्मीदवारों की अपेक्षा के अनुरूप पदों की संख्या के 20 गुना के बराबर उम्मीदवार बुलाने तथा ग्रुप डी के पदों के लिए एक चरण में ही कंप्यूटर आधारित परीक्षा (सीबीटी) लिये जाने का फैसला किया है।

रेल मंत्रालय ने यहां बताया कि रेलवे की भर्ती परीक्षा को लेकर उठे विवाद के मद्देनज़र एक समिति का गठन किया गया था और उसकी सिफारिशों एवं रिपोर्ट के अनुसार यह तय किया गया है कि एनटीपीसी के लिए दूसरे चरण के कंप्यूटर आधारित परीक्षा (सीबीटी) के लिए 20 गुना अधिक परीक्षार्थियों को बुलाया जाएगा।

यहां बता दें कि पहले रेलवे ने कुल पदों के 20 गुना के बराबर रोल नंबरों को दूसरे चरण के सीबीटी के लिए आमंत्रित किया था जो करीब 13 गुना परीक्षार्थी थे। कई परीक्षार्थियों ने एक से अधिक लेवल के पदों पर आवेदन किया था और एक परीक्षार्थी को हर लेवल पर आवेदन के लिए अलग अलग रोल नंबर आवंटित किये गये हैं। इससे 20 गुना रोल नंबर के बावजूद 13 गुना परीक्षार्थियों को दूसरे चरण के लिए आमंत्रित किये गये थे और इसी से परीक्षार्थियों में रोष व्याप्त हुआ और वे आंदोलन के लिए उतरे थे।

रेलवे ने अब फैसला किया है कि 20 गुना परीक्षार्थियों काे आमंत्रित किया जाए। मंत्रालय के अनुसार जिन उम्मीदवारों को पहले अर्ह घोषित किया गया था, वे अर्ह रहेंगे। अतिरिक्त अर्ह उम्मीदवारों की सूची हर वेतनमान की श्रेणी के अनुसार घोषित की जाएगी।

रेल मंत्रालय के अनुसार एक रेल भर्ती बोर्ड के तहत हर वेतनमान के सभी उम्मीदवारों दूसरे चरण के सीबीटी में बैठने वाले उम्मीदवारों को एक ही पाली में बुलाया जाएगा जिससे सामान्यीकरण की प्रक्रिया अपनाने की जरूरत नहीं होगी। जहां कहीं भी एक पाली में बुलाना संभव नहीं होगा, वहां प्रतिशत आधारित सामान्यीकरण किया जाएगा।

रेल मंत्रालय ने बताया कि ग्रुप डी के तकनीकी पदों के लिए अब केवल एक चरण में ही परीक्षा होगी, दूसरे चरण का सीबीटी नहीं लिया जाएगा। इस प्रकार के लिए अधिकतम क्षमता के अनुसार उम्मीदवारों को बुलाया जाएगा ताकि कम से कम पालियों में परीक्षा संभव हो और परीक्षा की प्रक्रिया जल्द से जल्द पूरी हो। प्रतिशत आधारित सामान्यीकरण की प्रक्रिया को अपनाया जाएगा जो समझने मेेंं आसान है। लेवल एक के विभिन्न पदों के लिए भारतीय रेलवे मेडिकल मैनुअल में वर्णित मेडिकल मानकों का अनुपालन किया जाएगा। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के अंतर्गत आवेदन करने वाले के किसी भी आय एवं संपत्ति प्रमाणपत्र को मान्य किया जाएगा।

रेल मंत्रालय के अनुसार एनटीपीसी के तहत सभी लेवल के पुनरीक्षित परिणाम अप्रैल 2022 केे प्रथम सप्ताह में घोषित किये जाएंगे। लेवल-6 के तहत दूसरे चरण का सीबीटी मई 2022 में आयोजित किया जाएगा जबकि अन्य लेवल के टेस्ट समुचित अंतराल के बाद आयोजित किये जाएंगे।

ग्रुप डी के तकनीकी पदों के लिए दूसरे चरण का सीबीटी नहीं होने के कारण पहले चरण के सीबीटी के लिए विशेष शर्तें एवं नयी प्रक्रिया का अनुपालन किया जाएगा। इसके लिए अतिरिक्त ढांचागत एवं लॉजिस्टिक सुविधाएं उपलब्ध करायीं जाएंगी। परीक्षा के संचालन के लिए एक एजेंसी की नियुक्ति के प्रयास किया जाएगा। ये परीक्षाएं जुलाई 2022 से आयोजित की जाएंगी।