Tuesday , September 27 2022

दो, चार, दस नहीं, बल्कि 150 करोड़ की नगदी इत्र कारोबारी पीयूष जैन के यहां से बरामद, आरोप चुनावों में होना था उपयोग

कानपुर।  इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Raid) ने चोरी के शक में गुरुवार को कन्नौज के इत्र व्यापारी पीयूष जैन के ठिकानों पर जो छापेमारी की थी। उसके जब परिणाम आए तो लोगों के होश उड़ गए। इत्र कारोबारी के यहां से पूरे 150 करोड़ की नगदी बरामद की गई है, जिसे गिनने के लिए पूरे दिन कई मशीनें लगाईं गईं तब जाकर आयकर विभाग के कर्मचारी नगदी गिन सके। बताया जाता है कि इस नगदी का इस्तेमाल चुनाव में किया जाना था।

यहां बता दें कि कानपुर, कन्नौज और मुम्बई स्थित घर के अलावा कारखाना, कोल्ड स्टोर, पेट्रोल पंप समेत कई ठिकानों पर एक साथ छापा मारा। इत्र और सुपारी के सप्लायर पीयूष जैन के घर पर शुक्रवार को भी छापेमारी जारी रही. इनकम टैक्स की टीम ने शुक्रवार को पीयूष के बेटे प्रत्युष जैन को हिरासत में ले लिया है. आईटी की टीम प्रत्युष जैन को पूछताछ के लिये अज्ञात जगह लेकर गयी है. वहीं, शिखर पान मसाला कंपनी के मालिक प्रवीण जैन के कई ठिकानों पर भी आयकर विभाग की छापेमारी जारी है.

पीयूष जैन के बेटे प्रत्युष को आईटी टीम ने हिरासत में लिया.

आयकर टीम ने इत्र व्यापारी पीयूष जैन के आवास को किले में बदल दिया है. बताया जा रहा है कि कई फर्जी फर्मों के नाम से बिल बनाकर कंपनी ने करोड़ों रुपयों की जीएसटी चोरी की है. सूत्रों के मुताबिक छापेमारी के दौरान पीयूष जैन के घर से 150 करोड़ की नकदी बरामद हुई है. सूत्रों के मुताबिक लगभग 13 से 14 मशीनें रुपये गिनने के लिए अब तक आ चुकी हैं. साथ ही व्यापारी पीयूष जैन के घर के अंदर आईटी की टीम बक्से भी मंगवाए हैं. बताया जा रहा है कि मशीनों से रुपये की गिनती की बाद इन्हीं बक्सों में रखा जाएगा.

भाई भी हैं इत्र के बड़े कारोबारी

कानपुर। शहर के छिपट्टी मोहल्ला निवासी पीयूष जैन और उनके भाई अम्बरीष जैन इत्र के बड़े कारोबारी हैं. पीयूष जैन ओडोकोम नाम से परफ्यूमरी कंपनी चलाते हैं. इत्र के अलावा वह पान मसाला में इस्तेमाल होने वाली खुशबू के कंपाउंड भी तैयार करते हैं. उनकी कंपनी ओडो फर्म कई पान मसाला कंपनियों को माल सप्लाई करती है. देश के कई राज्यों के अलावा विदेश में भी माल सप्लाई होता है।

लांच किया था समाजवादी इत्र

कानपुर। हाल ही में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने समाजवादी इत्र लांच किया था. जिसमें पीयूष जैन की भूमिका अहम रही थी. जिसको लेकर वह सुर्खियों में भी रहे थे. इत्र व्यापारी अखिलेश यादव के करीबी भी बताए जा रहे हैं.

कौन हैं पीयूष जैन

कानपुर। मूल रूप से कन्‍नौज के छिपत्‍ती के रहने वाले इत्र कारोबारी पीयूष जैन वर्तमान में जूही थाना क्षेत्र के आनंदपुरी में रहते हैं। उनकी इत्र की फैक्‍ट्री के अलावा कन्नौज में कोल्डस्टोरेज और पेट्रोल पंप भी है। मुंबई में इत्र कंपनी का हेड ऑफिस है और वहां एक घर भी है। पीयूष जैन की फैक्‍ट्री का इत्र यूपी से मुंबई जाता है। फिर देश-विदेश के बाजारों में पहुंचता है। जैन की करीब 40 कंपनियां हैं, जिसमें दो सऊदी अरब, दो देश के पूर्वी राज्यों में हैं।