Tuesday , September 27 2022

राष्ट्रवादियों के संबंध आतंकवादियों से, चाल, चरिद्धत्र और चेहरा हुआ बेनकाब : कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने कहा है कि यह हैरानी की बात है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) खुद को राष्ट्रवादी कहती है, लेकिन उदयपुर के जघन्य हत्याकांड के आरोपी रियाज तथा जम्मू में पकड़े गये तालिबानी आतंकवादी तालिब हुसैन शाह से उसके संबंध हैं।

कांग्रेस प्रवक्त पवन खेड़ा ने मंगलवार को यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह बात हैरान करने वाली है कि पिछले एक सप्ताह में घटी दो घटनाओं ने भाजपा के चाल, चरित्र और चेहरा को बेनकाब कर दिया है। पहले उदयपुर हत्याकांड में शामिल एक आरोपी उसका कार्यकर्ता निकला और फिर जम्मू-कश्मीर में पकड़े गये लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों में से एक तालिब हुसैन शाह भाजपा का पदाधिकारी निकला। तालिब की देश के गृह मंत्री के साथ भी तस्वीरें हैं।

उन्होंने कहा कि तालिब खतरनाक आतंकवादी है और उसकी योजना पवित्र अमरनाथ यात्रा के लिए जा रहे श्रद्धालुओं पर हमले की थी। आश्चर्य इस बात का है कि राष्ट्रवाद की बात करने वाली भाजपा के लिए क्या यह शर्म की स्थिति नहीं है।

उन्होंने कहा कि यह कोई पहला या दूसरा मौका नहीं है जब भाजपा के नेता या कार्यकर्ता आतंकी गतिविधियों में लिप्त पाए गए हैं। ऐसी कई घटनाएं हैं। क़रीब दो साल पहले जम्मू कश्मीर में आतंकियों को हथियार मुहैया कराने के आरोप में भाजपा के पूर्व नेता एवं सरपंच तारिक़ अहमद मीर को गिरफ्तार किया गया और 2017 में मध्य प्रदेश में एटीएस की टीम ने अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का पर्दाफाश करते हुए आईएसआई के 11 संदिग्धों को गिरफ्तार किया जिनमें एक भाजपा आईटी सेल का सदस्य ध्रुव सक्सेना भी शामिल था। इसके दो साल बाद मध्य प्रदेश में बजरंग दल के एक नेता बलराम सिंह की गिरफ्तारी टेरर फंडिंग के आरोप में हुई।

भारतीय युवा कांग्रेस ने इस मुद्दे पर भाजपा को घेरते हुए उदयपुर हत्याकांड के आरोपी ‘रियाज’ और जम्मू से पकड़े गए आतंकवादी ‘तालिब’ के भाजपा के साथ संबंधों के बैनर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की अलग-अलग जगहों पर लगाए है।

युवा कांग्रेस ने कहा कि भाजपाइयों का सिर्फ उद्योगपतियों से ही नहीं बल्कि आतंकियों से भी सांठगांठ है। राजधानी दिल्ली की सड़कों पर भाजपा के आतंकियों से रिश्ते को दर्शाता बैनर इसलिए लगाया गये हैं ताकि देश इन छद्म राष्ट्रभक्तों की हकीकत को जान सके। आज ये बैनर राजधानी की सड़कें पर है, कल देश के गली-मोहल्ले और चौराहे पर होंगे। क्योंकि जवाब भाजपा को देना होगा कि ये राष्ट्रवाद है या आतंकवाद।