Tuesday , September 27 2022

घर में माहवारी पर होनी चाहिए खुलकर बात : स्वाती सिंह

स्वीडन के वैज्ञानिक का स्वाती फाउंडेशन ने किया सम्मान


बनारस/प्रयागराज। हमारे जीवन की शुरुआत हमारी मां से होती है और हमारी यही नारी, महिला, बेटी, बहन, जिंदगी भर संकोच में अपनी माहवारी की बात और उससे होने वाली परेशानी व जटिलताओं को संकोच में छुपा कर जीती रहती है। हमारे समाज में माहवारी पर बात करना आज भी एक सामाजिक धब्बा माना जाता है, जबकि यह एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। इसको आज हर पुरुष ,अभिभावक और माता पिता को खुलकर अपने बच्चों के साथ इस विषय पर बात करना जरूरी है।
आज यह बात स्वाती फाउंडेशन की संस्थापक पूर्व मंत्री स्वाति सिंह ने प्रयागराज के प्लासिड होटल में आयोजित “नारी अस्मिता एवं आत्मनिर्भर भारत विषय पर आयोजित संगोष्ठी में कही” , पूर्व मंत्री स्वाती सिंह ने कहा कि किसी भी राष्ट्र की प्रगति का आंकलन उसकी सामाजिक व्यवस्था में महिलाओं की स्थिति के आधार पर किया जाता है।
संगोष्ठी में विशिष्ट अतिथि के तौर पर आए हुए स्वीडन के वैज्ञानिक डाॅ राम शंकर उपाध्याय ने कहा कि स्वाती फाउंडेशन द्वारा किए जा रहे सामाजिक कार्यों का उन्होंने स्वयं उत्तर प्रदेश में भ्रमण एवं कार्य करते हुए अवलोकन किया है स्वाति फाउंडेशन के संकल्पित एवं सक्रिय कार्य प्रणाली को देखते हुए वह स्वयं इस फाउंडेशन से जुड़कर भारतीय महिलाओं की सामाजिक के लिए सहर्ष काम करना चाहते हैं, उन्होंने बताया कि वह फाउंडेशन के महिला सशक्तिकरण, माहवारी स्वच्छता कार्यक्रम के लिए अपनी विशेषज्ञ परामर्श भूमिका के दायित्व के लिए अपनी स्वीकृति जाहिर करते हैं .
डॉक्टर राम ने सभी को जागरूक करते हुए बताया कि भारतीय महिलाओं में बहुत तेजी से बढ़ने वाला सर्वाइकल कैंसर जिसको आम भाषा में गर्भाशय का कैंसर कहते हैं एवं ओवेरियन कैंसर एवं ब्रेस्ट कैंसर की आधुनिक जांच प्रणाली प्रदान करने के लिए स्वाती फाउंडेशन के साथ इस सामाजिक कार्य में उनकी मदद हमेशा करते रहेंगे।
मुख्य अतिथि जस्टिस पीयूष अग्रवाल ने स्वाती फाउंडेशन की माहवारी विषय पर इस जागरूकता की मुहिम व खास तौर से पुरुषों और पूरे परिवार की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए बड़ी सरलता और सार्थकता से समझाएं गए व्याख्यान पर उनकी तारीफ करते हुए प्रयागराज में भी सामाजिक कार्यकर्ता डॉ अर्चना सिंह द्वारा चलाए जा रहे महिला सशक्तिकरण जागरूकता अभियान के लिए उंनका आभार जताया।
कार्यक्रम में विशेष अतिथि के तौर पर आई हुई मेयर अभिलाषा गुप्ता नंदी ने गागर में सागर भरा। उन्होंने कहा कि प्रयागराज के धरती पर हमें गंगा मां का आशीर्वाद सदियों से मिलता आ रहा है, जिसके बावजूद अगर हम आज भी नारी की समस्याओं को पूरी तरह सुलझा नहीं पाते हैं तो यह बहुत पिछड़ी हुई बात होगी। मोदी सरकार ने सारी योजनाओं को महिलाओं पर केंद्रित करके ही बनाकर यह बता दिया है कि नारी आज हमारे समाज में सबसे सर्वोपरि है। इसके साथ ही उन्होंने स्वाति फाउंडेशन और डॉक्टर राम शंकर की बातों को सबसे अमल में लाकर स्वास्थ्य के प्रति दिए हुए टिप्स को दैनिक जीवन में उतारने की बात कही।
कार्यक्रम में डॉक्टर अर्चना सिंह ने अमूल्य योगदान दिया और सबको धन्यवाद ज्ञापित किया,फाउंडेशन की सहयोगी संस्था कमला ग्राम विकास संस्थान के अजीत सिंह ने संगोष्ठी का सफल संचालन किया और डॉक्टर राम उपाध्याय सहित आए हुए विशिष्ट जनों को सम्मानित भी किया।