Tuesday , September 27 2022

राष्ट्रपति भवन में नीरज चोपड़ा समेत 12 खिलाड़ियों को दिया गया मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवॉर्ड

नई दिल्ली। नई दिल्ली में शनिवार को राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रीय खेल रत्न पुरस्कार 2021 दिए गए। टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड जीतकर इतिहास रचने वाले नीरज चोपड़ा को मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नीरज चोपड़ा समेत 12 खिलाड़ियों को मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवॉर्ड दिया है। नीरज के अलावा जिन खिलाड़ियों को मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवॉर्ड दिया गया है, उनमें टोक्यो ओलपिंक में सिल्वर मेडल जीतने वाले रेसलर रवि दहिया, टोक्यो ओलपिंक में ब्रॉन्ज जीतने वाली बॉक्स लवलीना बोरगोहेन, अनुभवी गोलकीपर श्रीजेश पीआर, अवनि लेखरा, सुमित अंतिल, प्रमोद भगत, मनीष नरवाल, मिताली राज, सुनील क्षेत्री और भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह शामिल हैं।

23 साल के नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलपिंक में 87.58 मीटर दूरी तक भाला फेंककर गोल्ड मेडल हासिल किया था। नीरज भारत को ओलपिंक में एथलेटिक्स में गोल्ड मेडल दिलाने वाले पहले भारतीय एथलीट हैं। उनसे पहले ये कारनामा कोई नहीं कर पाया। इसी के साथ वह ओलंपिक खेलों में इंडिविजुअल इवेंट में गोल्ड मेडल जीतने वाले केवल दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं।

गौरतलब है कि राष्ट्रीय खेल पुरस्कार हर वर्ष हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद की जयंती पर 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस के मौके पर दिए जाते हैं, लेकिन इस बार 29 अगस्त के आसपास ओलंपिक और पैरालंपिक होने के कारण पुरस्कारों को देने में देरी हुई। सुनील छेत्री इस पुरस्कार से सम्मानित होने वाले पहले फुटबॉलर बने। इस साल बारह खेल रत्न के अलावा  35 खिलाड़ियों को अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसका मुख्य कारण ओलंपिक (सात पदक) और पैरालंपिक (19 पदक) में अब तक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा। खेल रत्न पुरस्कार में 25 लाख रुपये का नकद पुरस्कार और एक मेडल ऑफ ऑनर दिया जाता है। इस समारोह में खेल मंत्री अनुराग ठाकुर समेत तमाम लोग मौजूद रहे।