Friday , September 30 2022
सोशल मीडिया

बीजेपी में शामिल करने की POWER मिली लक्ष्मीकांत बाजपेयी को

बने ज्वाइनिंग कमेटी के अध्यक्ष

लखनऊ. आगामी विधानसभा 2022 (UP Assembly Election 2022) चुनाव से पहले भाजपा (BJP) के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी (Laxmikant Bajpai) को पार्टी नेतृत्व ने बड़ी जिम्मेदारी दी है. चुनाव को लेकर भाजपा में किसे शामिल करना है, किसे नहीं, यह फैसला वाजपेयी की अध्यक्षता वाली कमेटी करेगी. डॉ. लक्ष्मीकांत को भाजपा की ज्वाइनिंग कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया है. डिप्टी सीएम केशव मौर्य, डॉ. दिनेश शर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह कमेटी के सदस्य होंगे. बता दें कि 2017 विधानसभा चुनाव के बाद से डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी के पास कोई बड़ी जिम्मेदारी नहीं है. कई बार उनका नाम राज्यपाल, राज्यसभा सांसद, विधान परिषद के लिए चर्चा में आया. अब मिशन-2022 में जुटी भाजपा ने वाजपेयी को बड़ी जिम्मेदारी दी है. सूचना जारी होने के बाद वाजपेयी समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई.

कौन हैं डॉ. लक्ष्‍मीकांत वाजपेयी

भाजपा के उत्‍तर प्रदेश अध्‍यक्ष रह चुके डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी आज भी अपनी सादगी के लिए जाने जाते हैं. चार बार विधायक रह चुके वाजपेयी मेरठ में स्‍कूटर से चलते हैं. उनका जन्‍म मेरठ में हुआ है. उनकी शादी डॉ. मधु वाजपेयी से हुई थी. उनके एक बेटा और तीन बेटियां हैं. डॉ. लक्ष्‍मीकांत वाजपेयी ने चौधरी चरण सिंह विश्‍वविद्यालय से बीएससी की थी. इसके बाद उन्‍होंने हरिद्वार के रिषिकुल आयुर्वेद कॉलेज से बीएएमएस की पढ़ाई की.

छात्र जीवन से ही वह राजनीति से जुड़ गए थे. वह कॉलेज लाइफ में जनरल सेकेट्री भी रह चुके हैं. बताया जाता है कि जब वह 14 साल के थे, तब से जनसंघ से जुड़ गए थे. 1977 में वह जनता पार्टी के युवा विंग के अध्‍यक्ष बने। 1980 मे. वह भारतीय जनता पार्टी मेरठ के जनरल सेकेट्री बने. फिर वह उत्‍तर प्रदेश भाजपा युवा मोर्चा के उपाध्‍यक्ष भी बने. दिसंबर 2012 में उन्‍हें भाजपा उत्‍तर प्रदेश के अध्‍यक्ष पद की जिम्‍मेदारी सौंपी गई. 2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने 80 में से 71 सीटें हासिल की थीं। वाजपेयी चार बार मेरठ शहर सीट से विधायक रह चुके हैं. हालांकि, 2017 विधानसभा चुनाव में उन्‍हें हार का सामना करना पड़ा था.