Thursday , September 29 2022

जल, जंगल व जमीन के लिए नैनीताल में आंदोलनकारियों का जमावड़ा

नैनीताल। जल, जंगल व जमीन से जुड़े अधिकारों को लेकर उत्तराखंड के आंदोलनकारी आगामी एक सितंबर को नैनीताल में जुटेंगे और हेलंग की घटना के विरोध में प्रदर्शन करेंगे। आंदोलनकारियों की ओर से इसके लिये नैनीताल चलो का नारा दिया गया है।
उत्तराखंड लोकवाहिनी के नेता राजीव लोचन साह ने बताया कि हेलंग प्रकरण के विरोध में नैनीताल में एक सितम्बर को प्रदर्शन किया जायेगा और मल्लीताल से आयुक्त कार्यालय (कमिश्नरी) तक जुलूस निकाला जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से सैकड़ों आंदोलनकारी विरोध प्रदर्शन के लिये नैनीताल में जुटेंगे।
प्रदर्शनकारी मल्लीताल के पंत पार्क में जुटेंगे और मालरोड, गांधी मूर्ति होते हुए कमिश्नरी पहुंचेंगे और यहां हेलंग की घटना के विरोध में प्रदर्शन करेंगे। साथ ही प्रदेशवारियों के जल, जंगल व जमीन से जुड़े अधिकारों के लिये आवाज बुलंद करेंगे।
यहां बता दें कि विगत 15 जुलाई को चरागाह से घास ला रही उत्तरकाशी के हेलंग गांव की महिलाओं के साथ पुलिस ने बदसलूकी की थी और उनसे घास भी छीन ली थी। इस घटना को राज्य के लोगों ने जल, जंगल व जमीन के हकहुकूकों से जोड़ कर देखा और इसके विरोध में तब पूरे प्रदेश से आवाज उठी थी। उसी के विरोध में आगामी एक सितंबर को नैनीताल चलो का नारा दिया गया है। इस घटना के विरोध में विगत 24 अगस्त हेलंग में पहला प्रदर्शन हुआ था।