Wednesday , October 5 2022

ब्रिटेन में महंगाई ने तोड़ा 40 साल का रिकॉर्ड, जनता ने लगाई त्राहिमाम की आवाज

मॉस्को। ब्रिटेन में महंगाई ने त्राहिमाम मचाया हुआ है। बुधवार को ऑफिस फॉर नेशनल स्टैटिस्टिक्स (ओएलएन) के जारी आंकड़ों से पता चला कि अप्रैल के महीने में मुद्रास्फीति की दर नौ फीसदी पर पहुंच गई है, जबकि एक महीने पहले यह सात फीसदी दर्ज की गई थी।
बयान में आगे कहा गया, इन आंकड़ों से पता चलता है कि यहां उपभोक्ता मूल्य महंगाई सूचकांक 40 साल पहले सर्वोच्च स्तर पर था। उस दौरान वर्ष 1982 में दिसंबर के महीने में मुद्रास्फीति की अनुमानित दर 6.5 फीसदी, जबकि जनवरी में लगभग 11 फीसदी थी।
ओएलएन के मुताबिक, देश में इस बढ़ती महंगाई में मुख्य योगदान बिजली, गैस और अन्य ईंधन की बढ़ती लागत है, जिससे घरों की कीमतों में भी इजाफा हो रहा है। सामान्य तौर पर, ब्रिटेन में अप्रैल में ऊर्जा की कीमतों में 54 फीसदी और मोटर ईंधन में 31.4 फीसदी तक की वृद्धि देखी गई। इससे परिवहन लागत में भी बढ़ोत्तरी हुई है।
मई की शुरुआत में, बैंक ऑफ इंग्लैंड ने अनुमान लगाते हुए कहा था कि ब्रिटेन में महंगाई इस साल उच्चतम स्तर पर पहुंच जाएगी। साल की चौथी तिमाही में इसमें 10 फीसदी तक की अधिकता देखी जाएगी क्योंकि यूक्रेन में जारी रूसी सैन्य अभियान से खाद्य और ऊर्जा की कीमतों में वृद्धि हो रही है।।