Friday , September 30 2022

UP – बेदाग अयोध्या के विधायक और मेयर, विकास प्राधिकरण की सूची फर्जी : उप मुख्यमंत्री पाठक

प्राधिकरण ने खबरों का किया खंडन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने सोमवार को कहा कि अयोध्या विकास प्राधिकरण की वायरल सूची झूठी और मनगढ़ंत है जिसकी आड़ में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) के नेता भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं को बदनाम करने की साजिश कर रहे हैं।
श्री पाठक ने कहा कि विपक्षी दलों के पास कोई मुद्दा नहीं है। अयोध्या में जब से प्रभु राम का भव्य मंदिर निर्माण हो रहा है तब से उनके मन में बड़ी पीड़ा है। भाजपा शुचिता के साथ कर्ताओं को लेकर जन-जन तक प्रधानमंत्री मोदी की गरीब कल्याण नीतियों को लेकर जा रही है।
उप मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्षी पार्टियों के नेताओं के मन में प्रभु राम के प्रति श्रद्धा के बजाय विद्वेष है और उसी भावना से वह काम कर रहे हैं। ये लोग अनर्गल आरोप लगा रहे हैं। इन लोगों ने अयोध्या विकास प्राधिकरण की जो सूची जारी की है वो पूरी तरह से मनगढ़ंत है और फर्जी है। विकास प्राधिकरण ने ऐसी कोई सूची जारी ही नहीं की है। वह पूरी तरह से बनाई हुई सूची है। केवल बदनाम करने की साजिश है। इस मामले में भी जांच की जा रही है और जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ़ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।
इस बीच अयोध्या विकास प्राधिकरण (एडीए) के उपाध्यक्ष (वीसी) विशाल सिंह ने कहा कि मीडिया में फैलाई गई सूची गलत और भ्रामक है। उन्होंने कहा कि अयोध्या विकास प्राधिकरण अवैध कॉलोनियों को चिन्हित कर रहा है। यह कार्यवाही प्रगति पर है। जांच के बाद ही पता चलेगा कि कौन सी कॉलोनी अवैध है। इस सम्बंध में भ्रामक और मनगढंत खबरें फैलाने वालों पर उचित कार्रवाई करने की आवश्यकता है।