Friday , September 30 2022

आईआईएम रोहतक के निदेशक ने किया सवा करोड़ का गबन !

नई दिल्ली/लखनऊ।

भारतीय प्रबंधन संस्थान, रोहतक (IIM-रोहतक) के निदेशक ने करीब सवा करोड़ का गबन किया। इसकी शिकायत तथ्यों के साथ केंद्र सरकार से की गई है, जिसमे आरोप लगाया गया कि निदेशक पद के लिए योग्यता न रखने के बावजूद नियमों को नजरंदाज कर उनका कार्यकाल बढ़ाया गया।

सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता संदीप पहल ने शिक्षा मंत्रालय को भेजे अपने शिकायती पत्र में आरोप लगाया कि भारतीय प्रबंधन संस्थान, रोहतक (IIM-रोहतक) के निदेशक धीरज शर्मा ने करीब एक करोड़ 30 लाख रूपये गबन किया है, यह गबन विकास परियोजनाओं के लिए आये धन और प्राप्त राजस्व में किया गया है। जिसका लेनदेन संस्थान के तीन बैंक खातों में से किसी एक से किया गया है। निदेशक की ओर इस तरह की वित्तीय अनियमितता किये जाने के कारण शिक्षा जगत में आईआईएम रोहतक की छवि धूमिल हो रही है।

लिहाजा उनकी मांग है कि निदेशक शर्मा के खिलाफ गबन का मुकदमा दर्ज कराया जाए और उनके अब तक कार्यकाल में किये गये वित्तीय लेनदेन की विधिवत जांच करवाई जाए। इन आरोपों के संदर्भ में आईआईएम रोहतक के निदेशक धीरज शर्मा से उनका पक्ष जानने के लिये संपर्क किया गया, मगर संपर्क नहीं हो सका।