Friday , September 30 2022

यूपी के बदायूं में पुलिस और दबंगों से परेशान किसान ने की आत्महत्या

मुरादाबाद /बदायूं। उत्तर प्रदेश में बदायूं जिले के थाना सिविल लाइन क्षेत्र मे दबंगों के उत्पीड़न से त्रस्त होकर एसएसपी आफिस गेट पर आत्मदाह करने वाले किसान की गुरूवार को इलाज के दौरान मौत हो गयी।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा ओपी सिंह ने बताया कि रसूलपुर बिलहरी गांव निवासी किसान किशनपाल (52) की आज सुबह बरेली के एक निजी मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान मौत हो गई। यहां बता दें कि दबंगों द्वारा उसकी फसल में आग लगाने के बाद पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही ना करने से परेशान होकर किशन पाल ने बुधवार दोपहर एसएसपी ऑफिस के गेट पर पेट्रोल छिड़ककर खुद को जला लिया था। गंभीर रूप से झुलसी हालत में किशनपाल को बरेली के श्री राम मूर्ति स्मारक मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। जहां आज सुबह लगभग चार बजे उसकी मौत हो गई।
डा सिंह ने बताया किशन लाल की फसल जलाने व मारपीट करने वाले आठ नामजद आरोपियों में से सात को पुलिस ने रात में ही गिरफ्तार कर लिया है। एक व्यक्ति अभी फरार है जिसकी तलाश जारी है। मृतक किशन लाल एवं आरोपी पक्ष एक ही परिवार के हैं। पुलिस ने किशन पाल के साथ कोई पक्षपात नहीं किया,23 अप्रैल की रात किशनपाल के फ़सल मे आग लगी थी ।24 अप्रैल की सुबह दोनों पक्षों में कहासुनी हुई और मारपीट भी हुई। उसी दिन किशनपाल परिवार के साथ थाने आया था और मौखिक रूप से पुलिस को घटना की जानकारी दी थी। पुलिस ने आरोपी पक्ष के सात लोगों का शांति भंग मे चालान भी किया था। किशनपाल और उसके परिवार का मेडिकल कराया गया और 25 अप्रैल को किशनपाल ने जब पुलिस को लिखित सूचना दी तो आरोपी पक्ष पर आईपीसी की 147,149,452,323,504,506 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया था ।
एसएसपी ने बताया है कि बरेली रेंज के पुलिस महानिरीक्षक रमित शर्मा ने इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है। जिसका नेतृत्व बरेली के एसपी सिटी करेंगे जो आईपीएस रैंक के अधिकारी हैं। उनका सहयोग बदायूं के एसपी सिटी प्रवीण सिंह चौहान करेंगे ।