Friday , September 30 2022

आरबीआई के हस्तक्षेप से पंजाब और महाराष्ट्र सहकारी बैंक के एकीकरण का मसौदा तैयार

ई दिल्ली। Reserve Bank Of India(RBI) ने सोमवार को पंजाब और महाराष्ट्र सहकारी बैंक के अधिग्रहण के लिए एक मसौदा योजना को पेश किया है। इस मसौदा योजना के तहत दिल्ली में स्थित यूनिटी स्मॉल फाइनेंस बैंक (USFB) के तहत पंजाब और महाराष्ट्र सहकारी (PMC) बैंक का अधिग्रहण किया जाएगा। भारतीय रिजर्व बैंक ने इस बारे में जानकारी देते हुए यह कहा कि, बैंक के एकीकरण की मसौदा योजना में USFB द्वारा जमा सहित PMC बैंक की संपत्ति और देनदारियों के अधिग्रहण की परिकल्पना की गई है। इस अधिग्रहण के बाद बैंक के जमाकर्ताओं को और भी अधिक सुरक्षा मुहैया कराई जा सकेगी। PMC बैंक में फ्रॉड का प्रकरण सामने आने पर RBI ने इस बैंक पर प्रतिबंध भी लगाया था। ऑन-टैप लाइसेंसिंग के दिशा-निर्देशों के अनुसार, इस तरह के बैंक की स्थापना के लिए 200 करोड़ रुपये की नियामक आवश्यकता होती है। जबकि, USFB की स्थापना लगभग 1,100 करोड़ रुपये की पूंजी के साथ की जा रही है।

इस बारे में बयान देते हुए भारतीय रिजर्व बैंक ने यह कहा कि, वह 10 दिसंबर को शाम पांच बजे तक मसौदा योजना से संबंधित सुझाव और आपत्तियों को स्वीकार करेगा। इसके बाद, वह इस अधिग्रहण पर अंतिम रूप से विचार करेगा। आपको यह बताते चलें कि, इस तरह का एक यूनिटी स्माल फाइनेंस बैंक पहले से ही काम कर रहा है। Centrum ग्रुप और BharatPe के बीच एक संयुक्त उद्यम यूनिटी स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड 1 नवंबर, 2021 से एक छोटे वित्त बैंक के रूप में अपना परिचालन शुरू कर चुका है। RBI की तरफ से इस साल जून में सेंट्रम ग्रुप और भारत पे को स्मॉल फाइनेंस बैंक शुरू करने की सैद्धांतिक मंजूरी दी गई थी। इस तरह से भारत के केंद्रीय बैंक ने पिछले छह सालों में पहली बार किसी बैंकिंग लाइसेंस को अपनी मंजूरी प्रदान की थी। इस स्मॉल फाइनेंस बैंक में Centrum और BharatPe दोनों की बराबर हिस्सेदारी शामिल है।