Friday , September 30 2022
सोशल मीडिया

PAK के नेशनल बैंक के सर्वर पर साइबर हमला, बैंक का दावा मनी और डेटा दोनों सुरक्षित

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के नेशनल बैंक (NBP) के सर्वर पर साइबर अटैक हुआ है। बैंक ने शनिवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि हमले के बाद बैंक की कुछ सेवाएं रोक दी गई हैं। हालांकि बैंक के डेटा और धन दोनों सुरक्षित हैं। NBP के मुताबिक बैंक की साइबर सिक्योरिटी से जुड़े इस केस की जांच की जा रही है। बैंक ने यह भी बताया कि किसी और बैंक ने साइबर अटैक की घटना रिपोर्ट नहीं की है।

बैंक ने कहा कि वे स्थिति का जायजा ले रहे हैं और यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि बैंकिंग सिस्टम ठीक से काम कर रहा है या नहीं। नेशनल बैंक ने कहा कि 29 अक्टूबर के आखिरी घंटों में और 30 अक्टूबर की सुबह बैंक के सर्वर पर साइबर अटैक डिटेक्ट किया गया। इसके बाद 40-50 लोकल और इंटरनेशनल एक्सपर्ट्स ने मिलकर सिस्टम को खतरे से बाहर निकाला।

सोमवार तक शुरू होंगी सेवाएं

NBP के प्रेसिडेंट आरिफ उस्मानी ने बताया कि माइक्रोसॉफ्ट समेत तीन प्रोफेशनल कंपनियां सोमवार तक बैंक की सेवाओं को फिर से चालू करने के लिए काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि सोमवार तक बैंक की सेवाओं को पूरी तरह चालू करना ही होगा। सरकार की तरफ से हम हर महीने की 1 तारीख को सैलरी भेजते हैं। 1 तारीख को सोमवार है, तो हर हाल में सोमवार तक बैंक में काम शुरू करना ही होगा।

उस्मानी ने यह भी बताया कि यह अटैक फेडरल बोर्ड ऑफ रेवेन्यू (FBR) पर हुए साइबर अटैक जैसा ही है। करीब ढाई महीने पहले FBR पर साइबर अटैक हुआ था और बैंक को उससे उबर पाने में करीब 2 हफ्ते लग गए थे।

तहरीके-लब्बैक के विरोध प्रदर्शनों से पाकिस्तान को 35 अरब रुपयों का नुकसान

तहरीके-लब्बैक पाकिस्तान पार्टी के विरोध प्रदर्शनों से पाकिस्तान को 2017 से अब तक 35 अरब रुपए का नुकसान हुआ है। डॉन के मुताबिक अभी जो विरोध-प्रदर्शन चल रहे हैं, उनमें सड़कें ब्लॉक होने से देश को 4 अरब रुपए का नुकसान हुआ है।