Thursday , September 29 2022

उत्तराखंड पेपरलीक घोटाले के खिलाफ कांग्रेस ने खोला मोर्चा, सीबीआई जांच की मांग

नई दिल्ली/देहरादून। कांग्रेस ने कहा है कि उत्तराखंड में भ्रष्टाचार चरम पर है और इसका ताज़ा उदाहरण हॉल में सामने आया उत्तराखंड अधीनस्थ कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा में पेपरलीक घोटाला है जिसमें अब तक 28 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं और यह फेहरिस्त लगातार बढ़ती जा रही है।

कांग्रेस के उत्तराखंड के प्रभारी महासचिव देवेंद्र यादव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करण महरा तथा विधानसभा में विपक्ष के नेता भुवन चंद कापडी ने सोमवार को यहां पार्टी मुख्यालय में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उत्तराखंड में पेपरलीक मामला बहुत गंभीर है और इसकी जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंपी जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि इस मामले में भाजपा का एक जिला पंचायत का सदस्य पकड़ा गया है। पहले वह एक आईएएस के घर में खानसामा था लेकिन अचानक इतनी दौलत इकट्ठी कर ली कि वह चुनाव लड़ने लगा और जनता का प्रतिनिधि बनकर भाजपा का एक बड़ा नेता बन गया। उसकी गिरफ्तारी से साफ है कि इस घोटाले के तार बहुत दूर तक जुड़े हुए हैं।

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि उत्तराखंड के नौकरी पाने के लिए दिन रात मेहनत करने वाले उम्मीदवारों की मेहनत पर पानी फिरने वाले इस पेपरलीक घोटाले में राज्य सरकार द्वारा कराई जा रही जांच से युवाओं के साथ न्याय नहीं हो सकता है इसलिए सीबीआई को तत्काल इसकी जांच सौंपी जानी चाहिए।