Friday , September 30 2022

न्यू इंडिया एनालिसिस चेरिटेबल ट्रस्ट का मुख्यमंत्री ने लिया संज्ञान, ध्वस्त होगा पेयजल माफियाओं का नेटवर्क

सार्वजनिक स्थलों पर नहीं रहेगी पीने के पानी की दिक्कत
बोतल बंद पानी के बाजार में आने से पहले नहीं थे पेयजल माफिया


लखनऊ।

उत्तर प्रदेश में पेयजल माफियाओं का नेटवर्क ध्वस्त होगा। सार्वजनिक स्थलों पर लोगों को पीने के पानी की सुविधा मिलेगी, क्योंकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने न्यू इंडिया एनालिसिस चेरिटेबल ट्रस्ट की ओर से उठाई गई समस्या का प्रमुखता से संज्ञान में लिया है। इस संदर्भ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अनु सचिव कुँवर भगवती शरण सिंह ने संबंधित विभागों को आदेश जारी कर दिया है।

दरअसल गर्मी आते ही उत्तर प्रदेश में पेयजल माफियाओं का नेटवर्क सक्रिय हो जाता है और सार्वजनिक स्थलों पार्कों, सरकारी अस्पतालों, प्रमुख चौराहों, बस स्टेशन व रेलवे स्टेशन के बाहर के पीने के पानी की सरकार की ओर से किये गये इंतजाम नेस्तनाबूद कर देता है। इसके बाद पेयजल माफिया पीने के पानी की बोतल 20-20 रूपये में बेंचते हैं और दूर-दराज से अपने कामकाज के सिलसिले में आये लोगों की पीने के पानी की बोतल खरीदना मजबूरी बन जाती है। इस तरह से पेयजल माफिया गर्मी के दिनों में लोगों की जेब में करोड़ों की डकैती हर साल डालते हैं। जबकि बोतल बंद पानी के बाजार में आने से पहले ऐसा नहीं था। सभी सार्वजनिक स्थलों चाहे वह अस्पताल हो, कचहरी हो अथवा कलेक्ट्रेट, गर्मी के दिनों में सरकारी नल की सुविधा उपलब्ध रहती थी और लोग अपनी प्यास बुझाते थे। मगर अब ऐसा नहीं है। वहां पर आस-पास केवल पानी की बोतले ही दुकानों पर टंगी दिखाई देती हैं। इस संदर्भ में न्यू इंडिया एनालिसिस चेरिटेबल ट्रस्ट ने सवाल उठाते हुए मुख्यमंत्री को पत्र लिखा और उनका ध्यान आकर्षण किया कि जब सार्वजनिक स्थलों पर शुलभ शौचालय जैसी व्यवस्था चल रही तो पीने के पानी का नल क्यों नहीं नजर आता है ? फलस्वरूप मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अनु सचिव कुँवर भवगती शरण सिंह ने न्यू इंडिया एनालिसिस चेरिटेबल ट्रस्ट की चिट्ठी पर 13 मई 2022 को नगर विकास सहित अन्य विभागों को इस गंभीर समस्या का निदान करने का आदेश देते हुए ट्रस्ट को भी अवगत करवाया।

चीफ ट्रस्टी अनुपम सिंह

न्यू इंडिया एनालिसिस चेरिटेबल ट्रस्ट के चीफ ट्रस्टी अनुपम सिंह ने बताया कि समाजसेवा में अग्रणी न्यू इंडिया एनालिसिस चेरिटेबल ट्रस्ट नये भारत के सपने को साकार करने की दिशा में अग्रसर है। उन्होंने बताया कि मल्टीनेशनल कंपनियों ने बाजारवाद पर कब्जा कर लिया, जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। इसलिए आम उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा और सामाज को जागरूक करने की दिशा में न्यू इंडिया एनालिसिस चेरिटेबल ट्रस्ट अपने जुझारूपन के साथ कार्य कर रहा है। आशा है कि समाज में नया बदलाव आयेगा।