Friday , September 30 2022

आजम खान जेल से हुए रिहा, शिवपाल यादव ने किया रिसीव

लखनऊ। सवा दो सालों से जेल की सलाखों के पीछे रहे सपा नेता आजम खान रिहा हो गये। उनकी रिहाई लेने प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव और महासिचव अभिषेक सिंह आशु पहुंचे थे। जेल से निकलने के बाद उन्होंने खुली हवा में सांस ली। अब पूरे लाव लश्कर के साथ रामपुर अपने घर को रवाना हो गये हैं।

शुक्रवार की सुबह आजम खान की आजादी की सुबह रही। आजम खान की रिहाई को लेकर लग रही तमाम कयासबाजियों पर विराम लग गया। जेल का गेट खुला और आजम खान बाहर निकले। इस दौरान अपने सफेद कुर्ता और काली बंडी में नजर आए। बालों में लाल मेहंदी और चेहरे पर चिर-परिचित मुस्कान लिए आजम जेल के बाहर पुलिसकर्मियों से बात करते भी नजर आए। इसके बाद अपनी सफेद इनोवा कार से वे बाहर निकले। आजम खान को रिसीव करने समाजवादी पार्टी से नाराज चल रहे विधायक शिवपाल यादव सीतापुर जेल पहुंचे। उन्होंने रामपुर विधायक को रिसीव किया। दोनों के एक साथ रामपुर रवाना होने की सूचना है। पिछले दिनों शिवपाल यादव और आजम खान की जेल में भी मुलाकात हुई थी। इसके साथ ही राजनीतिक कयासबाजियों का दौर शुरू हो गया था। आजम खान की रिहाई और इस मौके पर शिवपाल यादव की उपस्थिति ने एक बार फिर लखनऊ तक के सियासी माहौल को गरमा दिया है।


सुप्रीम कोर्ट ने उत्‍तर प्रदेश के रामपुर के समाजवादी पार्टी विधायक और पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान को गुरुवार को अंतरिम जमानत दी थी। इसके बाद स्‍थानीय एमपी-एमएलए कोर्ट ने सपा नेता की रिहाई के लिए सीतापुर कारागार प्रशासन को पत्र (परवाना) भेजा था। आजम खान के वकील जुबैर अहमद खान ने बताया था कि एमपी-एमएलए कोर्ट ने एक-एक लाख रुपये के दो मुचलके जमा करने को कहा था, जिन्हें गुरुवार को दाखिल कर दिया गया। इसके बाद कोर्ट ने आजम खान की रिहाई का परवाना जारी किया। सीतापुर जेल में परवाना पहुंचने के साथ ही आजम की रिहाई की तैयारी शुरू कर दी गई थी। दावा किया गया था कि आजम शुक्रवार की सुबह 8 बजे तक जेल से बाहर आ सकते हैं। हुआ भी कुछ ऐसा ही।

बेटे ने जताई खुशी
पिता की रिहाई को लेकर बेटे अब्दुल्ला आजम की खुशी काफी बढ़ी हुई है। स्‍वार सीट से विधायक अब्‍दुल्‍ला आज ने ट्वीट में लिखा कि इंशाल्लाह कल यानी शुक्रवार की सुबह सूरज की पहली किरण के साथ मेरे वालिद एक नए सूरज की तरह जेल से बाहर आएंगे। इस नई सुबह की किरणें तमाम जुल्मतों के अंधेरों को मिटा देंगी। आजम खान को अंतरिम जमानत मिलने के बाद उनकी पत्‍नी तंजीम फातिमा ने कहा कि यह सत्य की जीत है। कोर्ट ने हमें राहत दी है, मैं उन सभी लोगों का शुक्रिया अदा करना चाहती हूं, जिन्होंने मुश्किल समय में हमारा साथ दिया। इसके साथ उन्‍होंने कहा कि सीतापुर जेल से रिहा होने के बाद आजम खान सीधे रामपुर आएंगे।

27 महीने से सीतापुर की जेल में थे बंद
आजम खान भ्रष्टाचार, जमीन कब्जा और फर्जी कागजात समेत कई मामलों में पिछले 27 महीने यानी फरवरी 2020 से सीतापुर की जेल में बंद हैं। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को संविधान के अनुच्छेद 142 के तहत अपनी शक्ति का प्रयोग करते हुए आजम खान को अंतरिम जमानत दी है। इसके साथ ही उन्हें अब सभी 88 मुकदमों में जमानत मिल चुकी थी। इससे उनकी रिहाई का रास्ता साफ हो गया था। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि फिलहाल उन्हें अंतरिम जमानत दी गई है। सपा नेता को रेगुलर बेल के लिए निचली अदालत में दो हफ्ते में अर्जी दाखिल करनी होगी।