Thursday , October 6 2022

गोरखनाथ मंदिर पर हमले के बाद अयोध्या में अलर्ट


लखनऊ। उत्तर प्रदेश में गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर पर हमले के बाद अयोध्या में चल रहे चैत्र रामनवमी मेले को देखते हुए सुरक्षा का अलर्ट जारी कर दिया गया है।


वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्र कुमार पांडेय ने मंगलवार को बताया कि गोरखपुर की घटना को देखते हुए भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या में चल रहे चैत्र रामनवमी मेले में सुरक्षा व्यवस्था सख्त कर दी गयी है। मेले की सुरक्षा के लिये भारी मात्रा में फोर्स की सुरक्षा की तैयारी की जा रही है। रामनगरी की सुरक्षा ए.टी.एस. को दे दी गयी है। कप्तान के मुताबिक सुरक्षा के साथ चेकिंग बढ़ा दी गयी है। मठ-मंदिरों सहित पूरे मेला क्षेत्र की चौबीस घंटे निगरानी की जा रही है।


अयोध्या में दो अप्रैल से रामनवमी मेला चल रहा है इसमें बड़ी संख्या में रामभक्त अयोध्या पहुंच रहे हैं। भक्तों का सर्वाधिक दबाव मठ-मंदिरों में होता है, इसको देखते हुए प्रमुख नगरों की सुरक्षा को सख्त कर दिया गया है। श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान Temple of Ramlala, Hanumangarhi Temple, Kanak Bhawan Temple, Nageshwarnath Temple, Dashrath Mahal, Saryu Beach सहित अन्य महत्वपूर्ण स्थलों की सुरक्षा घेरा मजबूत करते हुए सी.सी.टी.वी. के जरिये चौबीस घंटे निगरानी की जा रही है। भीड़ को देखते हुए मंदिर में प्रवेश और निकासी द्वारा अलग-अलग बनाये गये हैं, ताकि भीड़ को नियंत्रण करने में आसानी हो और संदिग्ध लोगों पर नजर रखी जा सके।


उन्होंने बताया कि प्रतिदिन हजारों भक्त अयोध्या पहुंच रहे हैं। ऐसे में रामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला की सुरक्षा व्यवस्था तो तगड़ी है ही इसके बावजूद भी सतर्कता बढ़ा दी गयी है। अयोध्या के आई.जी. एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने अयोध्या क्षेत्र का भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।


गोरखपुर में सुरक्षा बल पर हुए हमले के बाद अयोध्या में भी सुरक्षा घेरा सख्त कर दिया गया है। अयोध्या में चल रहे प्राचीन राम मंदिर मेले को लेकर संवेदनशीलता और बढ़ गयी है। अयोध्या के सभी प्रवेश द्वारों पर सभी सघन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है, जिसमें नया घाट, साकेत पेट्रोल पम्प, उदया चौराहा, टेढ़ी बाजार आदि पुलिस कर्मी हर आने जाने वाले वाहनों, संदिग्ध व्यक्ति व वस्तुओं की तलाशी ले रहे हैं। सघन तलाशी के बाद ही किसी को मेला क्षेत्र में प्रवेश दिया जा रहा है।


रामनवमी मेले में भीड़ को देखते हुए Shri Ram Janmabhoomi पर विराजमान रामलला के दर्शन अवधि में तीन घंटे की वृद्धि भी की गयी है, जिसके चलते अधिक से अधिक दर्शनार्थी रामलला के दरबार में पहुंच रहे हैं। रामलला के दर्शन के लिये प्रथम पाली में डेढ़ घंटे और दूसरी पाली में भी डेढ़ घंटे का इजाफा किया गया है। अब सुबह छह बजे से ही रामलला के दर्शन होंगे जो 11.30 तक श्रद्धालु दर्शन कर सकेंगे। फिर उसके बाद दो बजे से रामलला का दर्शन श्रद्धालु 07.30 बजे तक कर सकेंगे। रामलला के दर्शन अवधि में इतना बड़ा इजाफा पहली बार हुआ है।


Shri Ram Janmabhoomi Teerth Kshetra Trust ने श्रद्धालुओं की सुविधा को ध्यान में रखते हुए दर्शन अवधि में बदलाव किया है। ऐसे में रात में श्रद्धालुओं की सुरक्षा किसी चुनौती से कम नहीं है। इसको लेकर भी सुरक्षा कर्मियों को मुस्तैद रहने के सख्त निर्देश दिया गया है। पुलिस महानिरीक्षक कवीन्द्र प्रताप सिंह, एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्र कुमार पांडेय ने पुलिस बल के साथ रामजन्मभूमि, रामकोट सहित सम्पूर्ण मेला क्षेत्र का पैदल भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।


उन्होंने सुरक्षा में लगे जवानों को हर पल मुस्तैद रहने को कहा है। साथ ही चेतावनी भी दी कि यदि सुरक्षा में लापरवाही पायी गयी तो कड़ी कार्रवाई की जायेगी। इस बीच अपर जिलाधिकारी/ मेलाधिकारी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि मेला क्षेत्र में साफ-सफाई के अच्छी व्यवस्था की जा रही है। खोया पाया कैम्प लगाया गया है। पूरे मेला क्षेत्र में लाउड स्पीकर के द्वारा बिछड़े हुए श्रद्धालुओं को मिलाया जा रहा है। जगह-जगह पर चूना छिडक़ाव तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा कैम्प भी लगाये गये हैं।