Tuesday , September 27 2022

इन्द्रप्रस्थ विश्वविद्यालय में 40 हजार सीटें उपलब्ध होंगी

नई दिल्ली। गुरु गोविंद सिंह इन्द्रप्रस्थ विश्वविद्यालय,दिल्ली ने विद्यार्थियों के प्रवेश की ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू कर दी है और इस अकादमिक वर्ष से छह नये रोजगारोन्मुख पाठ्यक्रम शुरू करने की घोषणा की है।
विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो (डॉ) महेश वर्मा ने बुधवार को यहां संवाददाताओं को बताया कि विश्वविद्यालय और इससे संबंद्ध कालेजों में 185 विभिन्न पाठ्यक्रमों में 40 हजार से अधिक सीटें उपलब्ध हैं।
उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय इस अकादमिक सत्र से एम.एड स्पेशल एजूकेशन (इन्टेलेक्चुअल डिस्बिलिटीज),मास्टर ऑफ डिजाइन (इन्डस्ट्रियल डिजाइन), मास्टर ऑफ डिजाइन (इन्टीरियर डिजाइन), बी डिजाइन (इन्डस्ट्रियल डिजाइन),बी डिजाइन (इन्टरएक्टिव डिजाइन) और बी डिजाइन (इन्टीरियर डिजाइन) पाठ्यक्रम शुरू करने जा रहा है। बी डिजाइन प्रोग्राम में सत्र 2022-23 में लेटेरल इन्ट्री की सुविधा भी उपलब्ध रहेगी। यह प्रोग्राम सूरज मल विहार कैम्पस के यूनिवर्सिटी ऑफ डिजाइन एंड इन्नोवेशन में भी उपलब्ध होगा।
उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय का पिछले वर्षों का प्लेसमेंट रिकॉर्ड बहुत अच्छा रहा है। पिछले वर्ष आठ हजार से अधिक विद्यार्थियों को देश की विभिन्न कंपनियों में बेहतर वेतन-भत्तों के आधार पर प्लेसमेंट मिली है। विश्वविद्यालय विद्यार्थियों की मदद के लिए सदैव अग्रणी रहता है और छात्रवृत्ति खासकर जरूरतमंद छात्रों को आर्थिक मदद उपलब्ध कराने में तत्पर रहता है।
प्रो वर्मा ने बताया कि विश्वविद्यालय में विदेशी छात्रों के लिए विशेष सुविधायें उपलब्ध करायी जा रही हैं। उन्हें प्रवेश के लिए किसी तरह के टेस्ट की जरूरत नहीं पड़ती। विश्वविद्यालय शोध पर विशेष ध्यान दे रहा है और इसके लिए धन आदि की समुचित व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय अपने खर्च स्वयं जुटाता है और सरकार पर इसकी निर्भरता नहीं रहती। उन्होंने उम्मीद जतायी विश्वविद्यालय जल्द ही अतिप्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थानों में शामिल हो जायेगा और वर्तमान में देश के शीर्ष 100 विश्वविद्यालयों की सूची में इसका नाम है।